Self Confidence

How to Increase Self Confidence – Read stories in Hindi

Self Confidence Kya Hai

आज आपको Self Confidence की  ऐसी कहानी बताने जा रहे हैं जिसे पढ़कर आप भी अपने आप को  आत्मविश्वास से भरपूर महसूस करेगें और सोचेंगे कि आपके अन्दर ऐसा क्या है जिस कारण आप भी सब से अलग हैं| तो चलिए शुरू करते हैं,
एडविन सी बार्नस, ये विख्यात नाम आपने सुना तो होगा ही, और इनका उदाहरण मैने अपने पहले ब्लॉग में दिया था| 

      !! Make your thinking your best friend – अपनी सोच को अपना सबसे अच्छा दोस्त बनायें !!

 
इनका सोचना यह था कि सचमुच इंसान जो सोचता है वह सच हो जाता है? क्यों कि जो उनहोंने सोचा था वो उसको भी सच होते हुए देखना चाहते थे, उनका सपना था कि वे द  ग्रेट थॉमस एल्व एडिसन  के साथ साझेदारी में काम करना चाहते थे, जबकि वो एडिसन को जानते तक नहीं थे|

उनका  Self Confidence  इतना पक्का था

कि अपने सपने को पूरा करने के लिए निकल लिए, उन्हें एडिसन के दफ्तर ऑरेंज, न्यू जर्सी जाना था और अपनी जेब देखी तो खाली पाई, उनके पास किराये तक के  पैसे नहीं थे इसके बाबजूद भी उन्होंने हार नहीं मानी, जबकि कोई और व्यक्ति (हम-आप) में से ही कोई भी होता तो सोचता कि, जब किराया ही नहीं है तो ऐसे सपने सोचने और पूरा करने का क्या फायदा|
उनहोंने क्या किया कि एक माल गाडी पकड़ी और ऑरेंज में एडिसन की दफ्तर पहुँच गये|
अब उनकी मुलाकात महान एडिसन से हुई उन्होंने कहा कि में आपके साथ एक साझेदार के रूप में काम करना चाहता हूँ| जैसे ही एडिसन ने यह सुना तो थोड़ा चकित हुए और उसका Self Confidence- आत्मविश्वास देखते हुए एक साधारण सी नौकरी पर रख लिया|
“कार्य की प्राप्ती”-
यहाँ देखिये, जिस काम के लिए एडिसन ने बार्नस को रखा था वो कार्य एडिसन के लिए कोई महत्व नहीं रखता था परन्तु बार्नस ने इस काम को अपने लिए एक बड़ा अवसर समझा क्यों कि उसे एडिसन के कार्यालय में काम करने का अवसर प्राप्त हुआ,
जहाँ उसे व्यापारिक माल प्रदर्शित करने का अवसर दिया| इसी काम को करते करते उसे काफी दिन हो गए, समय गुजरता जा रहा था परन्तु उनके मन में अभी भी उनका वो सपना चल रहा था जो की वो सोच कर आये थे (एडिसन के साथ काम में साझेदारी
वह इसे पूरा करने के लिए शेष जीवन तैयार थे चाहे कितना ही वक्त ही क्यों ना लग जाये|
ये सच है कि “जब कोई किसी बात के लिए सचमुच तैयार होता है तो उसको वह तक जाने के लिए रास्ता भी मिल जाता है” क्यों कि उसी समय एडिसन ने एक डिवाइस बनाई थी और वे इस मशीन को मार्केट मई लाना चाहते थे परन्तु उनके सेल्समेन इस मशीन से उत्साहित नहीं थे क्यों कि उन्हें Self Confidence नहीं था कि वे इस मशीन को बेच सकते हैं|
यहीं पर बार्नस ने अपना अवसर देखा,

बार्नस जानते थे कि वे इस मशीन को बेच सकते हैं,

तभी वो एडिसन के पास गए और अपना सुझाव दिया और तुरंत ही अपना अवसर पा लिया, सफलतापूर्वक उन्होंने इस मशीन को देशभर में बेचा और इसी तरह वो एडिसन के व्यापार हिस्सेदार बन गये|  

Self Confidence- Image
    “ क्यों कि, उन्होंने ये साबित कर दिया कि सोच कर भी अमीर बना जा सकता है|”
 

कुछ महत्तवपूर्ण बातें जिन्हें आप भी अपने लिए जान सकते हैं :

  1. अपका लक्ष्य क्या है?
  2. लक्ष्य के प्रति आपकी इच्छा कितनी है?
  3. कार्य करने की क्षमता और संयम?
  4. अवसर की सही परख?

 यदि आपको यह कहानी अच्छी लगी तो आप हमारे ब्लॉग को फॉलो करें , शेयर करें और अन्य लोगों तक पहुचाएं|

धन्यवाद|
 

3 thoughts on “How to Increase Self Confidence – Read stories in Hindi”

  1. Pingback: Negative Effect- नकारात्मक प्रभाव - जाने, कैसे प्रभाव डालते हैं -True Tales

  2. Pingback: Key of Success - True Tales safalta ki kunji kya hai

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *